Wednesday, 28 April 2010

अरुणा कपूर की कहानी : मोहिनी समाई सागर में... | रचनाकार

अरुणा कपूर की कहानी : मोहिनी समाई सागर में... रचनाकार

2 comments:

राज भाटिय़ा said...

कहानी पढने मै अच्छी है, लेकिन असल जीवन मै सही नही,

aruna kapoor 'jayaka' said...

धन्यवाद भाटीयाजी!... आपको कहानी पसंद आई यह मेरे लिए खुशी की बात है!... मुझे जवाब देने में इसलिए देर हो गई क्यों कि मै इस उधेड्बून में थी कि अपनी कहानी नायिका को सही ठहराउ या गलत!..... लेकिन इस कहानी को वास्तविक ध्ररातल पर रख कर देखा जाए तो मोहिनी ने क्या गलत किया?... उसका पति उसे उम्र के इस पडाव पर, छोड कर जा रहा है!... जीवनभर मनमानी करता रहा और अब भी मनमानी कर रहा है!... ऐसे में अगर पत्नी ही कहती है कि' तुम क्या मुझे छोड कर जा रहे हो... मै ही तुम्हे छोड कर जा रही हूं!'... तो इसमें गलत क्या है?....

खैर!... इस कहानी में जीवन की सच्चाई है; जो कड्वी है!