Sunday, 20 January 2008

TOM AND JERRY SHOW Part-12

जायका के घर में...
'TOM AND JERRY SHOW'..Part-12

" जयु, एक परांठा और ले..ले..." डब्बू का झाँका अब खुल गया था और उसने हमें 'जयु' कहना शुरू कर दिया था।

" नहीं यार डब्बू... हमारा पेट वैसे ही आगे निकला हुआ है; ज्यादा खाना खाने से 'फट' करके फटाका भी बोल जाएगा तो हम क्या करेंगे? " हमने मज़ाक किया और डब्बू हमारे पेट की तरफ देखने लग गया।

" नही, नहीं...डब्बू ! तुम हमारे गोल,गोल...मतलब की..." मतलब हम दब्बू को समझा ही रहे थे कि .... वह खुद ही समझ गया और उसने वही किया जो वह नामिका के साथ करता था...

" नही डब्बू! तुम अभी नामिका के घर में हो.... हमारे घर जब रहने आ जाओगे; तब आगे क्या करना है, तुम्हे हम खुद बता देंगे....फिल-हाल हमारी कटोरी में मटर-पनीर भर दो! " हमने डब्बू के मुंह में पनीर का बड़ासा टुकड़ा सरका दिया और डब्बू धन्य हो गया।

...डब्बू ने अपने मर्दानी हाथों से हमारे lovely को भी पेटभर खाना खिला दिया। नामिका के घर आने का कोई ठिकाना नहीं था।क्या पता रात को भी वो न आए!.....ऐसा होता है तो और क्या चाहिए हमे!

" डब्बू! अब लगता है कि इस घर में नया cook ' धामी ' आने वाला है! तुम अपना सामान पैक कर लो और हमारे साथ.... हमारे घर चलने की तैयारी कर लो!" हमने अपना बड़प्पन दिखाना शुरू कर ही दिया।

" जयु! तेरे घर में फ्रिज़ और टी.वी. तो है.... पर माइक्रोवेव और वाशिंग मशीन नहीं है!.... ये तो नामिका बता रही थी।" डब्बू ने पूछ-ताछ शुरू कर दी।

" क्या नामिका ने ये नहीं बताया कि मेरी तनख्वाह उससे डबल है? " हमने भी उलट सवाल किया।

" हां! ये भी बताया था... लेकिन ..."

" लेकिन क्या? " अब हमें गुस्सा आने लगा था।

" गुस्सा मत खाओ जयु! ... मैं आने के लिए तैयार बैठा हूँ...लेकिन..." डब्बू ने फिर' लेकिन ' कहकर वाक्य अधूरा ही छोड़ दिया और हम जो समझना था; वह समझ गए!

" ठीक है डब्बू!... हम माइक्रोवेव, ऑटोमैटिक वाशिंग-मशीन और तुम जो भी कहोगे..सब खरीद देंगे!...बस, एक बार हमारे घर रहने आ जाओ बस! " हमने डब्बू को पटाने की पूरी कोशिश करते हुए कहा।

" क्या... कार भी खरीदोगी?" डब्बू को यकायक याद आया की हमारे पास कार तो है नहीं!

...हम कुछ कहने जा ही रहे थे कि...बाहर कार रुकने की आवाज आई। नामिका आ गई थी। डब्बू अब घबरा गया और टेबल पर से झूठी प्लेटे... जल्दी-जल्दी और जल्दी...उठाने लगा..पर...

...कांच की एक प्लेट नीचे गिर कर टूट गई और..... नामिका की घर में एंट्री हुई!...

1 comment:

Vibha Rani Shrivastava said...

18/12/2012 को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है ..... !! धन्यवाद!